याचना नहीं अब रण होगा, संघर्ष बहुत भीषण होगा

0

vdt_28_04_2017_1493472044_749x421बस एक चिंगारी भर की देर है और छिड़ जाएगी अमेरिका और उत्तर कोरिया में जंग. डराना हमारा मकसद कतई नहीं है. मगर अब हालात ही ऐसे बन गए हैं क्योंकि अभी तक तो बस नार्थ कोरिया का सनकी तानाशाह ये धमकी दे रहा था लेकिन अब पहली बार बेहद खुले लफ़्ज़ों में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने कह दिया है कि दुनिया के लिए कैंसर बन चुके किम जोंग उन का इलाज ज़रूरी है. अब चूंकि ट्रम्प भी जानते हैं कि वो क्या कह रहे हैं. इसलिए उन्होंने इस धमकी के साथ ये भी साफ कर दिया है कि ये संघर्ष बहुत भीषण होगा.

उत्तर कोरिया को नहीं बख़्शेगा अमेरिका
कुछ इन्हीं लफ्ज़ों में जंग को टालने और किम जोंग उन पर दबाव बनाने की लाखों कोशिश कर के हारने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पूरी दुनिया को मौजूदा हालात से रूबरू कराया है. ट्रम्प के इन लफ्ज़ों के मायनों को समझना बहुत ज़रूरी है. क्योंकि जब दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश ये ज़ुबान बोलने लगे. तो मान लीजिए कि हालात वाकई अब काबू में नहीं हैं. तो सबसे पहले जानिए ट्रम्प की वो धमकी जिससे साफ़ है कि अब वो उत्तर कोरिया की किसी भी हरकत को बख़्शने के मूड में बिलकुल भी नहीं हैं.

 युद्ध टल सकता है अगर किम चाहें
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि नार्थ कोरिया के साथ भीषण जंग कभी भी हो सकती है. और यही एक मौका है कि हम एक बड़ी तबाही को ख़त्म कर सकें. हां मगर किम जोंग उन अगर अपने परमाणु कार्यक्रमों को रोकने को तैयार हो जाएं तो हम युद्ध को टाल सकते हैं. उत्तर कोरिया की कमान संभालने के बाद इस उम्र में किम जो चाहते हैं, वो आसान नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *